आज गुरु पूर्णिमा; साथ ही चंद्रग्रहण भी और कोरोना भी।

VINAY Choudhary

गुरु पूर्णिमा आज है। ओबेन न्यूज़ की तरफ से आप सभी पाठकों को गुरु पूर्णिमा की हार्दिक शुभकामनाएं। आषाढ़ मास चल रहा है और आज पूर्णिमा को यह पर्व मनाया जाता है। इस पूर्णिमा को गुरु पूर्णिमा के साथ आषाढ़ पूर्णिमा भी कहते हैं। इस साल गुरु पूर्णिमा का पर्व आज 5 जुलाई के दिन यानि की रविवार को मनाया जाएगा लेकिन इसमें ख़ास यह है कि आज ही चंद्र ग्रहण भी (Chandra Grahan 2020) लग रहा है। इस दिन भक्त अपने गुरु के सम्मान में कार्यक्रमों का आयोजन करेंगे और उनको श्रद्धासुमन अर्पित करेंगे लेकिन इसमें भी एक ख़ास बात है कि कोरोना के चलते ये कार्यक्रम ऑनलाइन होंगे। इस दिन बड़ी संख्या में लोग गुरु से दीक्षा भी ग्रहण करते हैं। गुरु की कृपा से ज्ञान प्राप्त होता है और उनके आशीर्वाद से सभी सुख-सुविधाओं, बुद्धिबल और एश्वर्य की प्राप्ति होती है। इसलिए भारतवर्ष गुरु की दर्जा सबसे बड़ा माना गया है और उनको पूज्यनीय माना गया है। इसलिए गुरु के सम्मान में गुरु पूर्णिमा का पर्व मनाया जाता है। इसमें भी एक ख़ास बात है कि इसे हिन्दू , जैन, बौद्ध और अन्य कई धर्मों के लोग मनाते है।

चंद्रग्रहण का समय –

ग्रहण की शुरुआत 5 जुलाई की सुबह 08:38 AM से होगी। इसका परमग्रास 09:59 AM पर होगा और इसकी समाप्ति 11:21 AM पर। उपच्छाया चंद्र ग्रहण की कुल अवधि 02 घण्टे 43 मिनट की होगी।

भगवान सत्यनारायण की कथा भी सुनते हैं –

आज गुरु पूर्णिमा है। बहुत से लोग गुरु पूर्णिमा के मौके पर सत्यनारायण की कथा भी सुनते हैं। लोग अपने घरों के सामने बंदनवार सजाते हैं। तुलसी दल मिला हुआ प्रसाद बांटते हैं। आज के दिन पूजा में लोग अपने देवताओं को फल, मेवा अक्षत और खीर का भोग लगाते हैं।

ऑनलाइन होंगे कार्यक्रम –

गुरु पूर्णिमा के दिन विभिन्न सामाजिक व धार्मिक संगठनों की ओर से विशेष आयोजन कर गुरुओं के प्रति सम्मान प्रकट किया जाता है. कोरोना वायरस के कारण इस बार सभी जगहों पर सामूहिक कार्यक्रम को स्थगित कर अपने-अपने घरों में ही गुरु का पूजन करने को कहा जा रहा है. अधिकतर जगहों पर लोग ऑनलाइन गुरु पूजन कार्यक्रम में शामिल होंगे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़े

google-site-verification=I1CQuvsXajupJY4ytqNfk1mN82UWIIRpwhZUayAayVM