24 घंटे में 11 लोगों ने जान गवाई, तो जागा- प्रशासन, दवा बाजार में मेडिकल किया सील

OBEN News Ujjain

🔸मामले में जिला प्रशासन ने रासूका के तहत कार्रवाई की बात कही… डॉक्टर्स, नगर निगम की टीम को लगाया स्वास्थ्य परीक्षण में।

🔸दवा बाजार स्थित गुप्ता सर्जिकल मेडिकल के यहां निर्धारित मात्रा से अधिक स्पीरिट पाये जाने पर स्टोर को सील किया गया है।

🔸11 व्यक्तियों की संदिग्ध मृत्यु पर कलेक्टर आशीष सिंह  बोले – 14 अक्टूबर की रात्रि एवं 15 अक्टूबर की सुबह संभवतः डीनेचर्ड स्पिरिट पीने से अब तक कुल 11 व्यक्तियों की संदिग्ध मृत्यु हो चुकी है।

🔸पोस्ट मार्टम के बाद विसरा जांच हेतु सागर लेबोरेटरी में आज ही भेजा जाएगा।

🔸माननीय मुख्यमंत्री जी के निर्देशानुसार कड़ी कार्यवाही की जायेगी। प्राथमिक जांच में दो-तीन संदिग्ध व्यक्तियों के नाम सामने आये हैं, उनके विरूद्ध रासुका की कार्यवाही की जा रही है।

🔸जांच में कुछ दवा स्टोर्स के नाम भी सामने आये हैं, जिनके स्टाक के वेरिफिकेशन का कार्य किया जा रहा है।

🔸नगर निगम व डॉक्टर्स की टीम को फुटपाथ एवं रैन बसेरों में रह रहे लोगों के स्वास्थ्य परीक्षण के लिये लगाया गया है, जिनके द्वारा जांच की जा रही है, जिससे कि अन्य किसी व्यक्ति द्वारा भी इसी तरह के डीनेचर्ड स्पिरिट का सेवन किया गया हो तो उसकी जान बचाई जा सके।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए बृहस्पतिवार को इस घटना की विशेष अनुसंधान दल (एसआईटी) द्वारा जांच के निर्देश दिए। महाकाल की नगरी उज्जैन में कथित रूप से जहरीले नशीले पदार्थ (शराब या स्प्रिट) के सेवन से पिछले 24 घंटे में 11 लोगों की मौत हो गई है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए बृहस्पतिवार को इस घटना की विशेष अनुसंधान दल (एसआईटी) द्वारा जांच के निर्देश दिए।

वहीं मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने इस घटना को लेकर राज्य की भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, ‘‘‘‘शिवराज जी, ये माफिया कब तक यूँ ही निर्दोषों की जान लेते रहेंगे?’’ उज्जैन जिले के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रुपेश द्विवेदी ने बताया, ‘‘बुधवार से बृहस्पतिवार सुबह तक उज्जैन के तीन थाना इलाकों -खाराकुआ थाना, जीवजीगंज थाना एवं महाकाल थाना – में किसी प्रकार के विषैले पदार्थ के पीने से 11 लोगों की मौत हो गई है। ये सभी या तो भिखारी हैं या गरीब मजदूर हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘अब ये प्रदार्थ क्या है और ये किसके द्वारा बेचा गया, इसकी जांच की जा रही है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘इसके लिए हमारे द्वारा सघन छापेमारी की जा रही है।’’ द्विवेदी ने बताया कि उज्जैन पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सिंह ने थाना प्रभारी खाराकुआ निरीक्षक एम.एल. मीणा, बीट प्रभारी उप निरीक्षक निरंजन शर्मा और दो आरक्षकों शेख अनवर एवं नवाज शरीफ को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। उज्जैन जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) महावीर खंडेलवाल ने बताया, ‘‘ये 11 लोग इतनी बुरी स्थिति में अस्पताल लाए गये थे कि इनमें से कोई भी 15 मिनट से ज्यादा जीवित नहीं रह पाया।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़े

आपका मुद्दा

उठाइए अपना मुद्दा, ओबेन न्यूज़ बनेगा आपकी आवाज। शिक्षा, सड़क, बिजली, नौकरी, काम से सम्बन्धित किसी भी मुद्दे का वीडियो बना कर 9111124210 पर भेजें।