निर्दोष ने बिताये ढाई वर्ष जेल में, कोर्ट ने बरी किया, लापता दुधमुंही बच्ची को अगवा कर हत्या के आरोप का

पत्रकार- अमूल्य जायसवाल की एक रिपोर्ट..

🔸शव और माता-पिता का DNA मैच नहीं होने से कोर्ट ने हत्यारोपी को दोषमुक्त करार दिया !!

🔸बचाव पक्ष की अपील पर कोर्ट ने मृत बच्ची की हड्डी एवं माता-पिता के खून के नमूने का डीएनए टेस्ट कराने का आदेश दिया था,रिपोर्ट मे नमूने मैच नहीं हुए !!

यह था मामला

🔸जून 2018 में लापताबच्ची की शिकायत लेकर उसका पिता उमेश नानाखेड़ा थाने पहुंचा था,बोला मेरी 11 माह की बच्ची शिवानी रात में मां के पास हो रही थी,सुबह देखा तो गायब मिली।

🔸तब पुलिस ने अपहरण का केस दर्ज किया,कायमी के 2 घंटे बाद ही पुलिस को शांति पैलेस बायपास के पास से एक बच्ची का शव मिला,पीड़ित परिवार ने भी शव की पहचान अपनी बच्ची के रूप में कर ली।

🔸पोस्टमार्टम के बाद अज्ञात के खिलाफ हत्या का केस भी दर्ज कर लिया गया,बच्ची के पिता के बयान पर ट्रेजर बाजार के पास सब्जी मंडी में ही मजदूरी करने वाले आनंदी लाल पिता मोहन को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

🔸क्योंकि गुमशुदा बच्ची के पिता ने बयान में कहा था कि कुछ रोज पहले हमारे पास में रहने वाले आनंदीलाल का झगड़ा मेरी पत्नी से हुआ था तब उसने कहा था,देख लूंगा अब मेरी बच्ची लापता है और आनंदी भी नजर नहीं आ रहा, इसके अलावा पुलिस को जांच में घटना स्थल से बीड़ी का टुकड़ा भी मिला था,जिसे जप्त कर लार का डीएनए कराया था,वह आरोपी से मैच हो गया था।

🔸अब फैसला आने पर 2 सवाल खड़े हो गए हैं

(1) शांति पैलेस बाईपास से जो शव बरामद हुआ था वह शिवानी का नहीं तो आखिर किसका था?
(2) शिवानी अगर जिंदा है, तो वह कहां है?

🔸केस को लेकर नानाखेड़ा के एक एसआई ने चार्जशीट कोर्ट में दाखिल की थी, मामले को लेकर उज्जैन एसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ल को फैसले की प्रति का इंतजार है,पश्चात संबंधित पुलिस अधिकारी पर कोई विभागीय कार्रवाई हो सकती है।

🔸परंतु गनीमत रही कि शव की हड्डी एवं माता -पिता के खून के नमूने का डीएनए बचाव पक्ष की अपील पर कोर्ट ने करवाने का आदेश दिया,नहीं तो एक बे-कसूर पुलिस की लापरवाही के चलते ढाई वर्ष तो काट ही चुका था,पता नहीं आगे उसे कब तक जेल में रहना होता।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़े

google-site-verification=I1CQuvsXajupJY4ytqNfk1mN82UWIIRpwhZUayAayVM