आंगनवाड़ी कर्मचारी महासंघ ने कलेक्ट्रेट पर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया

अभा आंगनवाड़ी कर्मचारी महासंघ ने जिला स्तर पर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन रखा। जिसमें देवास जिले की सभी कार्यकर्ता व सहायिका करीब 2 हजार आंगनवाड़ी कार्यकर्ता उपस्थित रहे है। कार्यकर्ताओं ने 15 फरवरी को 11 सुबह से दोपहर 2 बजे तक धरना देकर रैली निकली।

इसके बाद वे कलेक्टर कार्यालय पहुंचे और मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन दिया। ज्ञापन में बताया गया कि शासन की सभी जन हितैषी योजनाओं को मैदानी स्तर पर सफल करने में आंगनवाड़ी कर्मी कड़ी मेहनत करती है।

ज्ञापन में मांग की गई कि सहायिका व मिनी कार्यकर्ताओं को सरकारी कर्मचारी घोषित किया जाए। सभी कर्मचारियों को भविष्य निधि, पेंशन ग्रेच्युटी व चिकित्सा सुविधा दी जाए। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता व मिनी कार्यकर्ता और सहायिकाओं ने एक योद्धा के रूप में कार्य कर अपना योगदान दिया, लेकिन 90 प्रतिशत महिला की जिम्मेदारी परिवार के पालन-पोषण उनके उपर है।

सबसे कम मानदेय मिलता है। 1 तारीख मानदेय मिले। आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को प्रोत्साहन राशि व प्रमाण-पत्र दिया जाए। मानदेय में बढ़ोतरी की जाए। आंगनवाड़ी में भी मध्यान्ह भोजन नए सत्र से ही प्रारंभ किया जाए। साथ ही आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने देवास विधायक गायत्री राजे पंवार को भी ज्ञापन दिया गया।

जिस पर पवार ने आश्वासन दिया कि मुद्दों को मुख्यमंत्री के समक्ष व विधानसभा में रखेगी। इस अवसर पर अखिल भारतीय महासंघ की राष्ट्रीय अध्यक्ष रंजना राणा, प्रदेश उपाध्यक्ष जिला प्रभारी संजना, जिला मंत्री रुक्मणी यादव, जरीना खान अलका देशमुख, पार्वती पंवार, किरण व्यास, गिरजा भावसार, भारतीय मजदूर संघ प्रदेश महामंत्री एलएन मारु, विभाग अजय उपाध्याय , जिला मंत्री रामबाण सिंह, उपाध्यक्ष महेंद्र सिंह राणा, महेंद्र परिहार, ज्ञान सिंह गजेंद्र पराड़कर व जिले कार्यकर्ता एवं सहायिका उपस्थित रहीं।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़े

google-site-verification=I1CQuvsXajupJY4ytqNfk1mN82UWIIRpwhZUayAayVM