बजट सत्र में घमासान की आशंका, विधानसभा स्पीकर पद के दावदारों ने डाला राजधानी में डेरा ।

भोपाल. मध्यप्रदेश विधानसभा का बजट सत्र शुरू होने में अब एक दिन का वक्त ही बचा है. विधानसभा में इस बार स्पीकर और डिप्टी स्पीकर का चयन किया जाना है. लिहाजा इसको लेकर राजधानी में सरगर्मी तेज हो गई है. विधानसभा स्पीकर पद के प्रबल दावेदार माने जा रहे विंध्य के दोनों नेता गिरीश गौतम और केदारनाथ शुक्ला ने भोपाल में डेरा डाल दिया है.

माना जा रहा है कि इन दोनों नेताओं की मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से आज शाम या कल मुलाकात हो सकती है. इस सियासी सरगर्मी के बीच न्यूज़ 18 ने दोनों बड़े नेताओं से खास बातचीत की. गिरीश गौतम की मानें तो स्पीकर कौन होगा ये संगठन को तय करना है. हालांकि विंध्य की भावना है कि उसे अवसर मिलना चाहिए. हमने अपनी बात पार्टी के भीतर कह दी है. वहीं केदारनाथ शुक्ला की मानें तो संख्या के अनुपात के हिसाब से विंध्य को प्रतिनिधित्व नहीं मिला है. अधिक से अधिक विंध्य को मिले अच्छा है, फैसला संगठन को करना है. एमपी विधानसभा का बजट सत्र 22 फरवरी से शुरू हो रहा है । सत्र में स्पीकर और डिप्टी स्पीकर का चुनाव किया जाना है।

गिरीश और केदार में कौन ?

अब जबकि इस बात की संभावना ज्यादा है कि मध्यप्रदेश विधानसभा का अगला स्पीकर जो भी होगा वो विंध्य से ही होगा. तो फिर, इस बात को लेकर भी चर्चाएं तेज हैं कि आखिरकार वह चेहरा कौन होगा. विंध्य से जिन दो चेहरों का नाम सबसे ज्यादा चर्चाओं में है उनमें से एक गिरीश गौतम और दूसरा केदार शुक्ला का है. यह माना जा रहा है कि इन्हीं दोनों में से कोई एक मध्यप्रदेश विधानसभा का अगला स्पीकर बन सकता है. हालांकि दोनों नेताओं को अभी तक संगठन की ओर से किसी तरह का कोई संकेत नहीं मिला है.

सीएम ने किया था रीवा में झंडावंदन

विंध्य से ही स्पीकर बनाए जाने की संभावना इसलिए भी ज्यादा है क्योंकि हाल ही में गणतंत्र दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रीवा पहुंचे थे. उन्होंने इस बार झंडा वंदन रीवा में ही किया है. इस दौरान मुख्यमंत्री वहां पर रुके भी और स्थानीय नेताओं से चर्चाएं भी की. चर्चा के दौरान तमाम दावेदारों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मुलाकात भी की थी. यह माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री का विंध्य दौरा इसीलिए था कि स्पीकर के नाम पर सहमति बन जाए.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़े

google-site-verification=I1CQuvsXajupJY4ytqNfk1mN82UWIIRpwhZUayAayVM