भोरासा नगर स्थित फाटा पर दादा शेरसिंह राणा जी का भव्य स्वागत

भोरासा नगर स्थित फाटा पर दादा शेरसिंह राणा जी का भव्य स्वागत किया गया। श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना कॉलेज इकाई जिलाध्यक्ष कुँ.विजय सिंह शिवपुर ओर उनकी पूरी टीम द्वारा रविन्द्र सिंह भाटी
जी JNUV अध्यक्ष जोधपुर ओर दादा शेरसिंह
राणा जी का स्वागत किया गया।

कौन है दादा शेरसिंह राणा

उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात के बेहमई गांव में 40 साल पहले 14 फरवरी 1981 को एक युवा लड़की ने एक डकैत गिरोह द्वारा अपने यौन शोषण का बदला लेने के लिए 20 निर्दोष व्यक्तियों की गोली मारकर हत्या कर दी थी। आगे चलकर बैंडिट क्वीन फूलन देवी के नाम से जानी जाने वाली युवा लड़की बाद में सांसद बन गई। बेहमई नरसंहार में मारे गए लोगों में से 17 ठाकुर बिरादरी से थे। जुलाई 2001 में फूलन की दिल्ली में एक ठाकुर युवक शेर सिंह राणा ने गोली मारकर हत्या कर दी, जिसने दावा किया था कि उसने बेहमई में ठाकुरों के नरसंहार का बदला लेने के लिए फूलन की हत्या की थी।


लोगों ने राणा को कंधे पर उठाया, माला पहनाई
फूलन देवी को गोली मारने वाले व्यक्ति की एक झलक पाने के लिए आस-पास के गांवों के ठाकुर भी भौरासा फाटा पहुंचे। राणा को स्थानीय लोगों द्वारा कंधे पर उठाया गया और माला पहनाई गई। शेर सिंह राणा ने भीड़ को संबोधित करते हुए कहा कि वह ठाकुरों के सम्मान के लिए लड़ता रहेगा।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

इसे भी पढ़े

google-site-verification=I1CQuvsXajupJY4ytqNfk1mN82UWIIRpwhZUayAayVM